गणेश उत्सव कितनी धुमधान से मनाया जाता है पर उसके बाद क्या होता हैं गणेश जी के साथ, हम आपको दिखाते

गणेश उत्सव कितनी धुमधान से मनाया जाता है पर उसके बाद क्या होता हैं हम आपको दिखाते की विसर्जन बाद गणेश की हालत क्या होती हैं। हम आपको दिखाते हैं कुछ फोटो

ganesh-bhagwan

1. गणेश उत्सव कितनी धुमधान से मनाया जाता है इस बात से हम सब परिचित है, बप्पा सब की मनोकामना पुरी करने वाले है इसलिये हर दुसरे घर गणपति की स्थापना देखने को मिलती है। ये 10 दिन बड़े ही खास होते है सभी लोग बप्पा की पूजा आर्चना बड़े ही मन से करते है और इंतजार करते है बप्पा के विर्सजन का।

g1

2. और आखिरकार लंबे इतंजार के बाद वो दिन आ ही जाता है जिस दिन बप्पा का विर्सजन बड़ी ही धुमधान से किया जाता है। श्रद्दालु बड़ी ही धुमधान से भारी भीड़ के साथ बप्पा का विर्सजन करते है। और नाचते –गाते घर को लौट जाते है।

g2

3. विर्सजन के बाद नदियो के किनारो पर आती है धर्म की वो सच्चाई जो हमे सोचने पर मजबुर करती है कि क्या धर्म है और क्या अधर्म…?

g3

4. ये क्या हुआ..? हमने तो बप्पा का विर्सजन बड़े ही धूमधाम से किया था। तो क्या बप्पा पानी मे लीन नही हुये।

g4

5. बप्पा की ये मुख मुर्तिया खामोश रहकर हंस रही है और एक सवाल हमारे सामने खड़ा कर रही है क्या ये हाल करने के लिये मुझे अपने घर लाये थे। जब घर ले जा रहे थे तो बड़े सम्मान के साथ लेकर गये थे।

g5

6.इस से तो अच्छा मे उस दुकानदार के पास था कम से कम एक जगह पर विराजमान तो था लोग आते –जाते मेरे सामने हाथ जोड़कर जाते थे।

g6

7. पानी की हर लहर मेरा कोई ना कोई भाग किनारे पर फैंक जाती है जैसे वो भी मुझपर हंस रही हो और पुछ रह हो.. ये कैसा धर्म है..?

g7

8.विर्सजन के बाद भगवान गणपति की मुर्तियों की ऐसी दशा को देखकर तो लगता है कि स्वंय बप्पा भी ये सोचने पर मजबुर हो गये होगे कि अगले बरस भी यही सब हो इससे तो अच्छा है कि मुझे पृथ्वीलोक पर मत बुलाओ।

यदि आपको हमारी पोस्ट पसंद आये तो हमे कमेंट जरूर करे और हमारे पोस्ट को शेयर जरूर करे.

Comments