धोनी की बायोग्राफ़ी में हुई 7 बड़ी गलतियां, हमें यकीन है कि आपने इन पर गौर नहीं किया होगा

साल 2016 की मोस्ट अवेटेड बॉलीवुड फ़िल्म ‘M.S.Dhoni- The Untold Story’ ने बॉक्स ऑफ़िस पर धमाल मचाया हुआ है. धोनी के फ़ैन्स की भीड़ सिनेमाघरों में उमड़ पड़ी है. लोगों को फ़िल्म पसंद भी आ रही है. लेकिन इस फ़िल्म में कुछ गलतियां भी हुई हैं. जिन पर शायद आपका ध्यान भी नहीं गया होगा. लेकिन हमने इन गलतियों को पकड़ लिया है. तो चलिए आपको भी फ़िल्म में हुई गलतियों के बारे में बताते हैं.

1. धोनी और प्रियंका की पहली मुलाकात

फ़िल्म में धोनी और प्रियंका की पहली मुलाकात 2005 में फ्लाइट में दिखाई गई है. जबकि असल में धोनी और प्रियंका एक-दूसरे को काफ़ी पहले से जानते थे. धोनी उस वक़्त करीब 20 साल के थे, जब वो प्रियंका से मिले और उसी दौर में दोनों को प्यार हो गया था.
dhoni1

2. एम.एस. धोनी के बड़े भाई नरेंद्र सिंह धोनी

इस फ़िल्म में महेंद्र सिंह धोनी के बड़े भाई नरेंद्र सिंह धोनी का किरदार नहीं है. धोनी के एक बड़े भाई हैं, जिन्होंने धोनी की क्रिकेट में काफ़ी मदद भी की थी. फ़िल्म में धोनी के पूरे परिवार को दिखाया गया है, लेकिन धोनी के बड़े भाई का किरदार छूट गया.
dhoni2

3. विज्ञापनों की शुरुआत

इस फ़िल्म में धोनी के पहले विज्ञापन Sanjay Ghodawat Institute और Finolex Pipes के साथ दिखाए गए हैं. लेकिन आपको बता दें कि कभी भी इन दोनों ब्रैंड्स के साथ धोनी ने कोई विज्ञापन नहीं किया. ये दोनों ब्रैंड्स सिर्फ़ फ़िल्म के हिस्से हैं. वास्तविकता से इनका कोई वास्ता नहीं
dhoni3

4. Lava Endorsement

फ़िल्म में एक और बड़ी चूक हुई है. फ़िल्म में धोनी की Lava के साथ Endorsement साल 2008 में दिखाई गई है, जबकि Lava ख़ुद लॉन्च 2009 में हुआ है. धोनी इस कंपनी के ब्रैंड एम्बैस्डर हैं, लेकिन 2008 में जब कंपनी ही लॉन्च नहीं हुई थी, तब कैसे धोनी उसके एम्बैस्डर बन सकते हैं.
dhoni4

5. 90 के दशक में 90 रुपये किलो मछली?

फ़िल्म के एक सीन में धोनी के कोच राजेश शर्मा को मछली खरीदते दिखाया गया है. दौर था 90 का. उस दौर में मछली 90 रुपये किलो कैसे हो सकती है. 30 या 40 रुपये किलो की मछली को 90 रुपये दिखाना भी तो एक गलती ही है.
dhoni5

6. साक्षी और धोनी की पहली मुलाकात

फ़िल्म में धोनी और साक्षी की पहली मुलाकात एक पार्टी में दिखाई गई है. जबकि धोनी साक्षी एक-दूसरे को बचपन से जानते थे. दोनों के पिता काफ़ी अच्छे दोस्त थे और दोनों ने एक ही स्कूल से पढ़ाई की है. हां ये बात अलग है कि स्कूल के बाद दोनों करीब 10 साल बाद अपनी स्कूल की री-यूनियन में मिले थे, जहां उनकी मुलाकात स्कूल के एक दोस्त ने करवाई थी.
dhoni6

7. 2011 वर्ल्ड कप फ़ाइनल

वर्ल्ड कप फ़ाइनल में धोनी (सुशांत सिंह) बैटिंग के लिए जा रहे होते हैं, तो उन्होंने टोपी पहन रखी होती है. लेकिन बॉल खेलते समय वो हेल्मेट में होते हैं.
dhoni7

क्यों… आपने गौर नहीं किया इन बातों पर? कोई नहीं, अगर आपने फ़िल्म देख ली है तो दोबारा देख कर आइए और नहीं देखी, तो अब फ़िल्म देखते समय इन बातों पर ज़रूर गौर करिएगा.

Comments