कई विवादों और फ़सादों के बावजूद  2017 रहा बेहद ख़ास जानिए इन ऐतिहासिक बदलावों की वजह !

कई विवादों और फ़सादों के बावजूद 2017 रहा बेहद ख़ास जानिए इन ऐतिहासिक बदलावों की वजह !

2017 ख़त्म होने में अब कुछ ही समय बाकी है. ये साल राजनीति, क्रिकेट और मंनोरंजन जगत समेत कई मामलों में बेहद ख़ास रहा. अगर एक शब्द में कहा जाए, तो ये वर

धोनी की बायोग्राफ़ी में हुई 7 बड़ी गलतियां, हमें यकीन है कि आपने इन पर गौर नहीं किया होगा
मुस्कान का मतलब हर देश का अलग अलग होता, कई देश में मुस्कुराने से बुरा मानते !
18 साल बाद अगली फिल्म में एक बार फिर पिता बनेंगे सलमान खान

2017 ख़त्म होने में अब कुछ ही समय बाकी है. ये साल राजनीति, क्रिकेट और मंनोरंजन जगत समेत कई मामलों में बेहद ख़ास रहा. अगर एक शब्द में कहा जाए, तो ये वर्ष बेहद ‘यादगार’ रहा.

2017 में कुछ ऐसे बड़े-बड़े काम हुए, जो इतिहास के पन्नों में दर्ज किए जाएंगे. सच में हम भूल कर भी नहीं भूल पाएंगे 2017 की ये ख़ास और बड़ी बातें.

जानिए आखिर किन कारणों से ये 2017 बीते कई सालों में से बेहद ख़ास रहा!
1. 17 साल बाद मानुषी छिल्लर ने मिस वर्ल्ड का ख़िताब जीतकर देश का नाम रौशन किया.
भारत की मानुषी छिल्लर बनीं मिस वर्ल्ड, देश ने 17 साल बाद जीता यह खिताब ..मिस वर्ल्ड (2017), फेमिना मिस इंडिया (2017) के अलावा मानुषी ने मिस फोटोजेनिक का अवॉर्ड भी जीता है। वे मिस हरियाणा ..भारत के नाम 2 मिस वर्ल्ड खिताब हैं।


2. ऐतिहासिक क्षण! बरेली की शुंभागी स्वरूप बनी इंडियन नेवी की पहली महिला पायलट :
इंडियन नेवी के इतिहास में पहली बार किसी महिला पायलट को शामिल किया गया है. बरेली की शुभांगी स्वरूप को परमानेंट कमिशन के ज़रिये नेवी का हिस्सा बनाया गया है. आस्था सहगल, रूपा ए. और शक्तिमाया एस. भी नौसेना की आर्मामेंट इंस्पेक्शन ब्रांच में शामिल होने वाली पहली महिलाएं बनी हैं.शुभांगी स्वरूप नौसेना की समुद्री टोही टीम में पायलट होंगी. बताया जा रहा है कि उन्हें P-8 विमान उड़ान का मौका मिलेगा. इसके साथ ही आने वाले समय में वो किसी शिप की कमान भी संभाल सकती हैं.


3. टीम इंडिया के लिए ‘स्वर्णिम युग’ रहा साल 2017, इस साल इंडिया की क्रिकेट टीम कोई भी सीरीज़ नहीं हारी.


4.  अंतरिक्ष में भारत ने रचा इतिहासः इसरो ने एक साथ छोड़े 104 उपग्रह :
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) का प्रक्षेपण यान पीएसएलवी 15 फरवरी को श्रीहरिकोटा स्थित अंतरिक्ष केंद्र से एक एकल मिशन में रिकार्ड 104 उपग्रहों का प्रक्षेपण करेगा। इसरो ने कहा, ‘पीएसएलवी-सी37 कार्टोसैट-2 सीरीज सैटेलाइट मिशन को 15 फरवरी, 2017 को श्रीहरिकोटा से भारतीय समयानुसार सुबह 9:28 बजे प्रक्षेपित किया जाना है।’


5. ‘बाहुबली 2’ बनी 1500 करोड़ कमाने वाली पहली भारतीय फिल्‍म, सिर्फ 21 दिन में दिखाया कमाल


6. आज़ादी के बाद इन डायरेक्‍ट टैक्‍स से जुड़ा अब तक का सबसे बड़ा रिफ़ॉर्म यानी GST भी इसी साल लागू हुआ.
‘एक देश-एक कर’ कहे जाने वाले जीएसटी यानी गुड्ज़ एंड सर्विसेज टैक्स का आगाज़ एक जुलाई से हो चुका है। पीएम नरेंद्र मोदी ने इस नयी प्रक्रिया को स्वतंत्रता के 70 साल बाद से अब तक का सबसे बड़ा टैक्स सुधार का नाम दिया है। हालांकि जीएसटी के लागू होने से कितना नुक्सान और कितना फायदा होगा ये आकलन का विषय है लेकिन इसके लागू होने से वैट, एक्साइज ड्यूटी जैसे कई इन डाइरेक्ट टैक्स ख़त्म हो जाएंगे।
बावजूद इसके अभी ऐसे कई टैक्स हैं जिसका भुगतान आपको करना पड़ेगा।


7. 13 दिसंबर को भारत और श्रीलंका के बीच खेल गया वनडे मैच इतिहास बना गया. इसी मैच में रोहित शर्मा ने तीन दोहरे शतक लगाए और ऐसा करने वाले पहले इकलौते खिलाड़ी बन गए.
श्रीलंका के खिलाफ खत्म हुई वनडे सीरीज के मोहाली के मुकाबले में करियर का तीसरा दोहरा शतक बनाने वाले रोहित शर्मा ने भारत और श्रीलंका के बीच कल मोहाली में खेला गया दूसरा वनडे मैच रोहित शर्मा के ‘डबल धमाके’ के लिए याद किया जाएगा.


8. कोच्चि मैट्रो में 23 ट्रांसजेंडर्स को नौकरी दी गई. कोच्चि मेट्रो रेल लिमिटेड ट्रांसजेंडर्स को नौकरी पर रखने वाली पहली सरकारी एजेंसी है.कोच्ची मेट्रो के 11 स्टेशनों पर ट्रांसजेंडर समुदाय के लोगों को नियुक्त.
कोच्ची मेट्रो रेल लि. ने 11 मई 2017 को यह घोषणा की कि वह ट्रांसजेंडर समुदाय के 23 लोगों को भर्ती करेगा. भारत के इतिहास में पहली बार ट्रांसजेंडर समुदाय को सरकारी नौकरी की पेशकश की गयी.


9. 2008 से चले आ रहे आरुषी-हेमराज हत्याकांड में हाई कोर्ट ने आरुषि के माता-पिता राजेश और नूपुर तलवार को बरी कर दिया.


10. राम रहीम को दो साध्वियों के साथ रेप करने के आरोप में 20 साल की सज़ा सुनाई गई.

यदि हमारी पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इस मे पोस्ट कमैंट्स और शेयर जरूर करे।

ये भी पढ़ें:

टी-20 रैंकिंग में कोहली ने गंवाया पहला स्थान, रोहित-राहुल को हुआ फायदा

कोई नहीं नाप पाया इस कुंड की गहराई, क्या है भीम कुंड का रहस्य

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0