बैंक ने दिए बिना गांधीजी के फोटो वाले 2000 के नए नोट, मैनेजर ने कहा ये

ग्वालियर में एक बैंक द्वारा किसानों को बिना महात्मा गांधी की तस्वीर वाले दो किसानों को बैंक ने नोट 2000 रुपए के ऐसे नए नोट दिए, जिन्हें देख कर वह दंग रह गए। इन नोटों में से गांधी जी की तस्वीर गायब थी। हालांकि शिकायत पर बैंक ने नोट वापस ले लिए हैं। बैंक के साथ पूरा शहर हैरान है कि नए नोटों से गांधी जी का फोटो कैसे गायब हो गया। जब किसानों को ये नोट मिले तो वे इन्हें फर्जी समझकर हैरान हो गए। हालांकि, बैंक कर्मचारियों ने बताया कि ये नोट असली हैं, लेकिन इनकी प्रिंटिंग सही से नहीं हुई है। ये है मामला…….

5-jan-17-1

श्योपुर के काडूखेड़ली गांव के गुरमीत सिंह ने मंगलवार को SBI की बड़ौदा ब्रांच से 8 हजार रुपए निकाले। बैंक के कैश काउंटर से गुरुमीत सिंह को 2000 रुपए के 4 नोट दिए गए। गुरमीत सिंह ने चारो नोट देखे तो दंग रह गया, तस्दीक के लिए उसने भाई को नोट दिखाए वह भी नोट देख कर अचंभे में पड़ गया। दोनों भाइयों के अचंभे का कारण यह था कि उन्हें मिले नोटों से गांधी जी का फोटो गायब था।

5-jan-17-3

दोनों भाई वापस बैंक में गए मैनेजर को नोट दिखाए, पहले तो मैनेजर ने नानुकर की, लेकिन सारी जांच करवा लेने के बाद नोट वापस कर लिए। इसी तरह बिच्छू बाबड़ी के लक्ष्मण सिंह मीणा को बैंक से मिले 2 हजार के 3 नोटों से गांधी जी की फोटो नहीं थी। घंटों काउंटर-टू-काउंटर भटकने के बाद लक्ष्मण सिंह के नोट भी शाम 6 बजे बैंक प्रबंधन ने जमा कर लिए। बड़ौदा ब्रांच के मैनेजर श्रवण कुमार मीणा के मुताबिक श्योपुर की SBI मुख्य शाखा से 49 लाख रुपए मंगाए गए थे।

5-1-17-4

दोनों किसानों को बैंक की ओर से दो-दो हजार रुपए के चार-चार नोट दिए गए थे। इन्होंने 2000 रुपए के नोट नहीं देखे थे, ऐसे में उन्होंने कैशियर से ये नोट ले लिए। लेकिन जब ये बैंक से बाहर आए तो लोगों ने देखा तो नोट के ऊपर से महात्मा गांधी की तस्वीर गायब थे और बैंक के बाहर लोगों में हड़कंप मच गया और वहां मौजूद लोगों ने इनकी तस्वीर क्लिक कर ली। इसके बाद ये वापस बैंक के अंदर गए और बैंक अधिकारियों को इस बारे में बताया। शुरुआत में तो बैंक अधिकारियों ने इस मामले को रफा-दफा करने की कोशिश की, लेकिन बाद में बैंक ने उनके नोट वापस ले लिए।

यदि आपको हमारी पोस्ट पसंद आये तो हमे कमेंट जरूर करे और हमारे पोस्ट को शेयर जरूर करे.

Comments