अस्थमा से लड़ें इन घरेलु उपचारों से

अस्थमा से लड़ें इन घरेलु उपचारों से

पुरानी कहावत है की दमा तो दम जाने पर ही जाता है। यह सही बात है की इसका पूरा इलाज थोड़ा मुश्किल होता है। पर फिर भी इसे कंट्रोल  किया जा सकता है , बस ज़रु

भूल जाएं तेल, खूबसूरत बालों के लिए ये करें !
दुनिया के बेहतरीन हास्य लेखक तारक मेहता अब इस दुनिया को अलविदा कह गए !
जानिये E राशिफल नाम वाले व्यक्ति के भविष्य से जुड़ी कई जानकारी

पुरानी कहावत है की दमा तो दम जाने पर ही जाता है। यह सही बात है की इसका पूरा इलाज थोड़ा मुश्किल होता है। पर फिर भी इसे कंट्रोल  किया जा सकता है , बस ज़रुरत है तो थोड़ी जानकारी की, जो की हम आपको देने जा रहे हैं।

अस्थमा   (Asthma)  एक एलर्जिक रोग है जिसका समय पर उपचार न करने पर रोगी की हालत गंभीर हो सकती हैं। लेकिन अस्थमा के रोगियों के लिए कुछ ऐसे घरेलू नुस्खे भी हैं जिन्हें अपनाकर इस बीमारी को मात दी जा सकती है-

 

* तुलसी :- तुलसी के चमत्कारी गुणों के कारण ही हिंदू धर्म में लोग इसकी पूजा करते हैं। अस्थमा के  इलाज के लिए सुबह खाली पेट तुलसी की पत्त्यिों को चबाना एक अचूक  उपाय है। यदि आप ऐसा रोज़ करते हैं तो बोहोत जल्द आपको फायदा दिखाई देने लगेगा।

 

* हल्दी :- दूध में हल्दी डालकर पीने से  अस्थमा  में  काफी फायदा होता है। हल्दी और शहद को भी साथ में लेने से फायदा होता है।

 

* अदरक और लहसुन :- अदरक और लहसुन दोनों ही अस्‍थमा के इलाज में फायदेमंद होते हैं। आप इन दोनों को एक साथ या अलग अलग भी ले सकते हैं।  कोशिश करें की आप किसी न किसी रूप में इनका नियमित सेवन कर पाएं।

 

* मेथी :- शरीर की भीतरी एलर्जी को दूर करने में मेथी काफी सहायक होती है। मेथी के कुछ दानों को एक गिलास पानी के साथ तब तक उबालें जब तक पानी एक तिहाई न हो जाए। इस पानी में शहद और अदरक का रस मिला कर रोज सुबह-शाम सेवन करें।

 

* योग :- योग हर व्यक्ति के लिए कितना आवश्यक है ये तो हम जानते ही हैं , पर जब बात होती है अस्थमा पीड़ितों की तो ये और भी ज़रूरी बन जाता है।  अस्‍थमा से पीड़ित व्‍यक्ति को योगासन और प्राणायाम का अभ्‍यास करना चाहिए।

 

 

यदि हमारी पोस्ट आपको पसंद आयी हो तो इस पोस्ट में कमैंट्स और शेयर जरूर करे।

ये भी पढ़ें:

गुरुग्राम में क्रांति ले कर आने वाला आज खुद जेल की सलाखों के पीछे।

इन चार लोगों की मौत की जिम्मेदारी रजनीकांत और कमल हसन लेंगे?

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0