Good Friday 2017 || What is Good Friday || क्यों मनाते है || Jesus Christ

Good Friday 2017 || What is Good Friday || क्यों मनाते है || Jesus Christ

गुड फ्राइडे को होली फ्राइडे, ब्लैक फ्राइडे या ग्रेट फ्राइडे भी कहते हैं। यह त्यौहार ईसाई धर्म के लोगों द्वारा कैलवरी में ईसा मसीह को सलीब पर चढ़ाने के

केवल महिलाओं के लिये, घर मे रहने वाली महिलायें करे ये काम !
क्यों मुरझाता है तुलसी का पौधा || तुलसी देगी अच्छे बुरे संकेत !
April Birthday || क्या आपका बर्थ डे अप्रैल में || Which Month Baby Are You?

गुड फ्राइडे को होली फ्राइडे, ब्लैक फ्राइडे या ग्रेट फ्राइडे भी कहते हैं। यह त्यौहार ईसाई धर्म के लोगों द्वारा कैलवरी में ईसा मसीह को सलीब पर चढ़ाने के कारण हुई मृत्यु के उपलक्ष्य में मनाया है। यह त्यौहार पवित्र सप्ताह के दौरान मनाया जाता है, जो ईस्टर सन्डे से पहले पड़नेवाले शुक्रवार को आता है !

14.4.17 5

ईसाई धर्मानुसार ईसा मसीह परमेश्वर के पुत्र थे। ईसा मसीह को यीशु के नाम से भी पुकारा जाता है। “गुड फ्राइडे के दिन ही उन्हें क्रॉस पर लटकाया गया था।” इस दिन जीवनभर लोगों में प्रेम और विश्वास जगाने वाले प्रभु यीशु को याद किया जाता है और उनके उपदेशों को सुनाया जाता है। गुड फ्राइडे के दिन श्रद्धालु प्रेम, सत्य और विश्वास की डगर पर चलने का प्रण लेते हैं। कई जगह लोग इस दिन काले कपड़े पहनकर शोक व्यक्त करते हैं।

1. क्या है गुड फ्राइडे !

14.4.17 2

ईसाई धर्म ग्रंथों के अनुसार जिस दिन ईसा मसीह को सूली पर चढ़ाया गया व मसीह ने प्राण त्यागे थे उस दिन शुक्रवार का दिन था और इसी की याद में गुड फ्राइडे मनाया जाता है। अपनी मौत के तीन दिन बाद ईसा मसीह पुन: जीवित हो उठे और उस दिन रविवार था। इस दिन को ईस्टर सण्डे कहते हैं। गुड फ्राइडे को होली फ्राइडे, ब्लैक फ्राइडे या ग्रेट फ्राइडे भी कहा जाता है।

ईसाई लोगों के लिए गुड फ्राइडे का विशेष महत्व रखता है। इस दिन ईसा ने सलीब पर अपने प्राण त्यागे थे। यद्यपि वे निर्दोष थे तथापि उन्हें दंडस्वरूप सलीब पर लटका दिया गया। उन्होंने सजा देने वालों पर दोषारोपण नहीं किया बल्कि यह की कि ‘हे ईश्वर इन्हें क्षमा कर, क्योंकि ये नहीं जानते कि ये क्या कर रहे हैं।

2.गुड फ्राइडे के दिन क्या किया जाता है !

14.4.17 4

गुड फ्राइडे के दिन ईसाई धर्म के अनुयायी गिरजाघर जाकर प्रभु यीशु को याद करते हैं। श्रद्धालु प्रभु यीशु द्वारा तीन घंटे तक क्रॉस पर भोगी गई पीड़ा को याद करते हैं। रात के समय कहीं-कहीं काले वस्त्र पहनकर श्रद्धालु यीशु की छवि लेकर मातम मनाते हुए पद-यात्रा निकालते हैं।

गुड फ्राइडे प्रायश्चित्त और प्रार्थना का दिन है अतः इस दिन गिरजाघरों में घंटियां नहीं बजाई जातीं बल्कि उसके स्थान पर लकड़ी के खटखटे से आवाज की जाती है। लोग ईसा मसीह के प्रतीक क्रॉस का चुंबन कर भगवान को याद करते हैं। गुड फ्राइडे पर विश्व भर के ईसाई चर्च में सामाजिक कार्यो को बढ़ावा देने के लिए चंंदा व दान देते हैं।

14.4.17 3

गुड फ्राइडे के दिन ईसा मसीह को क्रॉस पर लटकाया गया था। उनपर आरोप लगाए गए थे कि वह पाखंड कर रहे हैं और खुद को ईश्वर का पुत्र बता रहे हैं। गुड फ्राइडे एक शौक दिवस होता है लेकिन क्योंकि इस दिन ईसा मसीह की मृत्यु हुई थी इस कारण इसे “गुड” फ्राइडे कहकर संबोधित किया जाता है। इस दिन का महत्व प्रभु यीशु को दी गई यातनाओं को याद करने और उनके वचनों पर अमल करने का है।

बैसाखी क्यो मनाया जाती है || BAISAKHI FESTIVAL || क्या आप जानते है || बैसाखी से जुड़ी रोचक जानकारी !

हनुमान जंयती || 51 साल बाद हनुमान जयंती में विशेष योग || छप्पर फाड़ के बरसेगा धन !

क्यों मुरझाता है तुलसी का पौधा || तुलसी देगी अच्छे बुरे संकेत !

डा. भीमराव अम्बेडकर का जीवन परिचय || भीमराव के जीवन से जुड़ी रोचक बाते

यदि हमारी पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इस मे पोस्ट कमैंट्स और शेयर जरूर करे।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0