फाइबर फूड या रेशेदार आहार-जो कि स्वास्थ्य के लिए बेहतर है

फाइबर फूड या रेशेदार आहार-जो कि स्वास्थ्य के लिए बेहतर है

उच्च फाइबर युक्त आहार आपके सम्पूर्ण तंत्र को बेहतर ढ़ंग से बनाने में मदद करता है। इसकी कमी कब्ज, हिमोरॉयड्स और खून में कोलेस्ट्रॉल का उच्च स्तर बनाता ह

न्यूज़पेपर Ad अक्सहर आपने देखा होगा की “घर बैठे पैसे कमायें” तो सच्चाई जानने की कोशिश की गयी, ये सामने आया
UP Police Recruitment 2018 | Apply UP Constable Online Form 41520
जानिये E राशिफल नाम वाले व्यक्ति के भविष्य से जुड़ी कई जानकारी

उच्च फाइबर युक्त आहार आपके सम्पूर्ण तंत्र को बेहतर ढ़ंग से बनाने में मदद करता है। इसकी कमी कब्ज, हिमोरॉयड्स और खून में कोलेस्ट्रॉल का उच्च स्तर बनाता है। दूसरी तरफ इसकी अधिकता डायरिया, डिहाइड्रेशन पैदा कर सकता है। फाइबर पाचन क्रिया को दुरुस्त  करता है और खाने को आसनी से पचने में मदद करता है, इसके अधिक सेवन से पाचन संबंधी समस्‍या कम होती है, इसलिए फाइबरयुक्‍त इन आहारों का सेवन जरूर करें।

  1. ब्‍लैक बींस

ब्‍लैक बींस में फाइबर होता है जो कब्ज़ नहीं होने देता। इसमें उपलब्ध घुलनशील फाइबर न केवल रक्त शर्करा को संतुलित रखता है बल्कि कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को कम करने में भी योगदान देता है।

  1. ब्रोकोली

ब्रोकली में कैलोरी बहुत कम और फाइबर, विटामिन और मिनरल बहुत अधिक मात्रा में होते हैं, जो कई प्रकार के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्रदान करते हैं। इसके अलावा, इसमें घुलनशील और अघुलनशील दोनों प्रकार के फाइबर शामिल होते हैं।

  1. नट्स

नट्स के लाभ किसी से छुपा नही है। बादाम इन सभी का राजा है। ये सभी सलाद में या नाश्ते में उपभोग किये जा सकते है।

  1. बींस

बींस बहुपोषक होते है। जब इन्हें उबाला जाता है तो यह बहुत अच्छी मात्रा में फाइबर देते हैं।

  1. मटर

मटर को बहुत ही आसानी से प्राप्त किया जा सकता है। इसमें कई लाभदायक तत्व पाये जाते है। इसमें प्रचुर मात्रा में फाइबर भी पाया जाता है। एक कप उबली हुई मटर में 8 ग्राम फाइबर पाया जाता है।

  1. दालें

अपने नियमित अनाज में उच्च फाइबर युक्त अनाज मिलाएं जैसे राजमा, विभिन्न प्रकार की दालें आदि।

  1. फल

फलों का सेवन ज़्यादा करें। नाश्ते या मिष्ठान्न के रूप में फल खाएं । सेब और नाशपाती जैसे फलों को छिलके सहित खाएं। छिलकों में ही सबसे अधिक फाइबर होता है।

  1. ब्राउन ब्रेड

गेंहूँ से बनी हुई ब्रेड और पास्ता का उपयोग करें।

  1. ब्राउन राइस

सामान्य चांवल के स्थान पर ब्राउन राईस का उपयोग करें।

  1. ओटमील

ओट्स में बीटा ग्‍लूकन होता है जो कि एक स्‍पेशल टाइप का फाइबर होता है। यह कोलेस्‍ट्रॉल लेवल को कम कर के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है। source health.thecrazypost

यदि हमारी पोस्ट आपको पसंद आयी हो तो इस पोस्ट में कमैंट्स और शेयर जरूर करे।

ये भी पढ़ें

प्रदूषण से लड़ने को दुनिया का सबसे बड़ा एयर प्यूरीफायर तैयार किया, चीन ने

अगले साल फरवरी में होगा एजुकेशन सिस्टम के खिलाफ मिशन ‘चीट इंडिया ‘

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0